Kahani Sangrah- System

Total System- 3
Download

कुत्ते को लगा की बैलगाड़ी उसके कारण चल रही है

एक समय की बात है | एक कुत्ता भरी धुप में घूमते हुए एक बैलगाड़ी के पास पहुंचा और उस बैलगाड़ी के नीचे छाया में बैठ गया | थोड़ी देर बैठे रहने के बाद उसने थोड़ा आगे बढ़ने का फैसला लिया और उसी समय बैलगाड़ी वाले ने अचानक बैलगाड़ी भी आगे बड़ा दी | इससे कुत्ते को लगा की ये बैलगाड़ी उसके साथ उसके कारण आगे बड़ी है | थोड़ी देर बाद कुत्ते ने सोचा की थोड़ा और आगे चला जाए | जैसे ही उसने आगे बढ़ना सुरु किया बैलगाड़ी वाले ने भी तभी अचानक बैलगाड़ी भी आगे बड़ा दी |कुत्ते को फिर लगा की बैलगाड़ी उसके कारण ही आगे बढ़ी है | इस तरह की सोच के कारण कुत्ते को ये गुमान हो गया की वो इतना शक्तिशाली है की वो अपने दम पर पूरी बैलगाड़ी को चला सकता है | अचानक उसने महसूस किया की बैलगाड़ी हिल रही है और शायद आगे जाने वाली है | इस बार उसने सोचा की वो अब अपनी जगह से नहीं हिलेगा और इस तरह बैलगाड़ी को भी आगे नहीं बढ़ने देगा | लेकिन जैसा की होना था - बैलगाड़ी कुत्ते के कारण तो आगे बढ़ नहीं रही थी, इसलिए वो कुत्ते के कारण रुकी भी नहीं और आगे बढ़ गयी, और कुता वापस धुप में बैठा रह गया | यही सोच कभी कभी हमें भी इसी प्रकार गलत आदतों का शिकार बना देती है | हमें यह समझना चाहिए की सिस्टम रूपी बैलगाड़ी को आगे बढ़ने से कोइ नहीं रोक सकता | इसलिए उसके साथ आगे बढ़ो, ना की गलत सोच लेकर बैठे रह जाओ |

buy viagra in the philippines generic viagra without a prescription how much viagra should i take
go read how to get viagra in philippines
married looking to cheat click here wife affair
how women cheat read here read here
signs of infidelity My boyfriend cheated on me read
read here go abortion procedures
redirect go redirect

Posted on- 11/15/2013 8:51:18 PM
Visitors:
Google Ads